उत्तराखंडरुद्रप्रयागवायरल न्यूज़वीडियो न्यूज़

केदारनाथ में  प्रशासन की मनमानियां, बेरोजगार युवाओ से छीना जा रहा है रोजगार

चारधाम यात्रा अपने अंतिम चरण पर है, और इस ही बीच केदारनाथ में प्रशाशन बेरोजगार युवाओ से उनके रोजगार के साधनो को छीनने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है.

इस साल केदारनाथ यात्रा में भले ही रिकॉर्ड संख्या में तीर्थयात्री पहुंच रहे हैं लेकिन इस बार शुरू से ही यात्रा विवादों से घिरी हुई है. आपको बता दें की केदारनाथ यात्रा से केदारघाटी में रहने वाले लाखों स्थानीय लोगो का रोजगार भी जुड़ा होता है इस साल शुरू में प्रशासन ने स्थानीय लोगों को गौरीकुंड से लेकर केदारनाथ धाम तक टेंट, ढाबा और अन्य काफी तरह की दुकानें विभिन्न पड़ावों पर खोलने की अनुमति दी गयी थी, इससे काफी बेरोजगार युवाओं को रोजगार भी प्राप्त हुआ लेकिन अब प्रशासन अपनी मनमानियों पर उतर आया है.

सूत्रों के मुताबिक केदारनाथ यात्रा के गोल चौक पर स्थानीय लोगों द्वारा टैंट लगये गए थे यात्रा के शुरुवात में जब यात्रियों की भीड़ के चलते प्रसाशन के पास व्यवस्थाएं कम पड़ने लगी तो स्थानीय बेरोजगार युवाओं ने केदारनाथ धाम में तीर्थ यात्रियों को रहने के लिए टेंट, और खाने की अन्य काफी सारी व्यवस्थाएं उपलब्ध कराई गयी अब जब यात्रा अपने अंतिम चरण पर है यात्रा के 50 दिन बचे है, तो प्रसाशन अपनी मनमर्जी पर उतर आया है आज प्रसाशन द्वारा उन ही टेंटों को जबरन हटाया जा रहा है, और स्थानीय लोगों से रोजगार के  साधन को छीना जा रहा है. कोई स्थानीय नेता सुधा लेने को तैयार नहीं है. क्या प्रसाशन इन बेरोजगार स्थानीय लोगो के लिए रोजगार का कोई साधन प्रदान करेगी या फिर ये स्थानीय लोगो बेरोजगारी  के आलम को ही झेलता रहेगा.

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: चीला सड़क हादसे में लापता महिला वार्डन का शव चौथे दिन बरामद, मृतकों की संख्या हुई 5
Back to top button