अपराधउत्तराखंडहल्द्वानी

हल्द्वानी हिंसा: थाने पर कब्जा कर उपद्रवियों ने की थी पुलिसवालों को जलाने की कोशिश, प्रदेश में हाई अलर्ट

बनभूलपुरा थाने के एसओ और पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर जलाकर मारने की कोशिश की. इसके बाद जब उपद्रवी बेकाबू हो गए तो सीएम समेत उच्चाधिकारियों ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए.

हल्द्वानी में अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई हिंसा पर जिलाधिकारी वंदना का कहना है. हमारी तैयारी पूरी थी, कोई कमी नहीं थी. पर जिस तरह से टीम पर हमला हुआ है. उससे लगता है, कि यह सुनियोजित और योजनाबद्ध हमला किया गया है, जिसकी तैयारी पहले से थी. एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने कहा कि ये उपद्रव बड़ी साजिश के तहत किया गया प्रतीत होता है. उन्होंने कहा कि उपद्रवियों ने पुलिस फोर्स पर लाइसेंसी हथियारों और अवैध असलहों से पहले फायरिंग शुरू कर दी. बनभूलपुरा थाने के एसओ और पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर जलाकर मारने की कोशिश की.

इसके बाद जब उपद्रवी बेकाबू हो गए तो सीएम समेत उच्चाधिकारियों ने उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए. तब पुलिस ने स्थिति नियंत्रित करने के लिए गोली चलाई. पुलिस ने फिलहाल 5 लोगों की मौत की पुष्टि की है. 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी, पत्रकार और आम जनता घायल हुई है. एसएसपी ने बताया कि उपद्रवी इतने आक्रामक थे कि उन्हें जो वाहन मिला उसे उन्होंने आग के हवाले कर दिया. 70 से ज्यादा वाहनों को फूंक दिया गया. उपद्रव को लीड करने और भड़काने वाले 4 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं. बाकी उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगी हुई है.

यह भी पढ़ें -  ऊधमसिंह नगर: गौतम अरोरा ने जेईई मेंस में किया उत्तराखंड टाॅप, आप भी दे बधाई!
Back to top button