उत्तराखंडचम्पावतपिथौरागढ़

रामलला के दर्शन के लिए जा रहे पहाड़ के 3 युवकों की सड़क हादसे में मौत, परिजनों में मचा कोहराम

अयोध्या में श्रीराम मंदिर दर्शन के लिए जा रहे युवक दुर्घटना का शिकार हो गए. हादसे में पिथौरागढ़ और चंपावत जिले के तीन युवकों की मौके पर ही मौत हो गई

अयोध्या में श्रीराम मंदिर दर्शन के लिए जा रहे युवक लखीमपुर खीरी (यूपी) में दुर्घटना का शिकार हो गए. हादसे में पिथौरागढ़ और चंपावत जिले के तीन युवकों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए. हादसे की यह खबर दोनों जिलों में पहुंचते ही हर कोई स्तब्ध रह गया. इस हादसे से जहां तीनों युवकों परिजन गहरे सदमे में हैं वहीं क्षेत्र में शोक व्याप्त है. बता दें कि, शनिवार को पिथौरागढ़ के विण-जाखनी से चंचल सिंह, कुंदन सिंह, प्रतीक शर्मा, नरेंद्र सिंह धामी, अनिकेत बोरा कार (यूके 05 डी 5885) से अयोध्या के लिए रवाना हुए थे. यह कार नरेंद्र सिंह धामी की थी. रविवार सुबह लखीमपुर खीरी में सड़क हादसा हो गया. दुर्घटना में पीपली के डौड़ा गांव निवासी चंचल सिंह (40) पुत्र मोहन सिंह, क्वीतड़ निवासी कुंदन सिंह सौन (25) वर्ष पुत्र भूपेंद्र सिंह सौन और बाराकोट जिला चंपावत हाल जाखनी पिथौरागढ़ निवासी प्रतीक शर्मा (24) वर्ष पुत्र भुवन चंद्र शर्मा की मौके पर ही मौत हो गई.

इसके अलावा गाजरी पीपली निवासी नरेंद्र सिंह धामी और विण निवासी अनिकेत बोरा गंभीर रूप से घायल हो गए. हादसे की जानकारी मिलते ही परिजन लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गए हैं. तीन युवकों की मौत से पिथौरागढ़ में गहरा शोक व्याप्त है. हादसे में घायल नरेंद्र सिंह धामी मर्चेंट नेवी में है और इन दिनों अवकाश पर घर आया हुआ था. अनिकेत बोरा अग्निवीर में भर्ती हो गए हैं. हादसे में घायल दोनों युवकों के परिजन भी लखीमपुर खीरी रवाना हो गए हैं. हादसे में मृत चंचल सिंह पिथौरागढ़ के विण में दुकान चलाते थे और अविवाहित थे. उनके माता-पिता डौड़ा गांव में ही रहते हैं. चंचल चार भाइयों में दूसरे नंबर के थे. उनका बड़ा भाई सेना से सेवानिवृत है और दो भाई उनसे छोटे हैं. हादसे की सूचना के बाद माता-पिता सहित सभी परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. सूचना मिलने के बाद बड़ी संख्या में क्षेत्रवासियों ने उनके घर पहुंचकर सांत्वना दी. चंचल सिंह हास्य कलाकार भी थे और तमाम मौकों पर लोगों को गुदगुदाया करते थे. उनकी मौत का समाचार मिलते ही पूरे तल्ला बगड़ क्षेत्र में शोक छा गया. आगे पढ़िए-

हादसे में जान गंवाने वाले क्वीतड़ गांव निवासी कुंदन सिंह सौन मर्चेंट नेवी में थे. उनके पिता भूपेंद्र सिंह सौन भूतपूर्व सैनिक हैं. उनका परिवार वर्तमान में एपीएस के निकट रहता है. कुंदन की दो बहनें हैं. एक बहन की शादी हो चुकी है. सूचना मिलने के बाद पिता भूपेंद्र सिंह और अन्य परिजन लखीमपुर खीरी के लिए सुबह ही रवाना हो गए. कुंदन की माता का रो-रोकर बुरा हाल है. हादसे की जानकारी मिलते ही परिचित और रिश्तेदार ढाढ़स बंधाने के लिए पहुंचे. चंपावत-लोहाघाट के बाराकोट निवासी और जीआईसी पीपलकोट पिथौरागढ़ के भूगोल प्रवक्ता भुवन चंद्र शर्मा का पुत्र प्रतीक शर्मा (24) अपने माता-पिता के साथ पिथौरागढ़ में ही रहता था. वहीं रहकर वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयार कर रहा था. वह बेहद व्यवहार कुशल था. लड़ीधुरा शैक्षिक सांस्कृतिक मंच के अध्यक्ष नगेंद्र जोशी ने बताया कि रविवार तड़के लखीमपुर खीरी (यूपी) में सड़क हादसा हो गया जिसमें प्रतीक की मौत हो गई. प्रतीक की मौत की खबर मिलते ही क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई. लड़ीधुरा शैक्षिक सांस्कृतिक मंच के अध्यक्ष नगेंद्र ने बताया कि परिजन शव लेकर बाराकोट की ओर रवाना हो गए हैं. सोमवार को अंतिम संस्कार रामेश्वर घाट में किया जाएगा. युवक की मौत के बाद क्षेत्र में शोक की लहर है. प्रतीक दो भाइयों में छोटा था.

यह भी पढ़ें -  तीर्थनगरी ऋषिकेश में शर्मनाक वारदात.. वीरभद्र स्टेशन पर मानसिक रूप से बीमार 23 वर्षीय युवती के साथ गैंग रेप
Back to top button